कैप्टन सरकार ने पंजाब के दलितों, पिछडो को बिजली का जोरदार झटका लगाया: तरूण चुग

Author(s): 

चण्डीगढ: भारतीय जनता के राष्ट्रीय मन्त्री श्री तरूण चुग ने कैप्टन सरकार द्वारा 3000 युनिट से ज्यादा बिजली इस्तेमाल करने वाले राज्य के चार लाख से ज्यादा अनुसुचित जातियों , पिछडी जातियों और बी.पी.एल.परिवारों को हर महीने मिलने वाली 200 युनिट फ्री बिजली की सुविधा बन्द करने की घोषणा को राज्य के गरीब , बेसहारा , दलितों शोषितों के साथ घोर अन्याय करार देते हुये इस पर पुनविचार करने की मांग की। श्री चुग ने कहा की दुख की बात है की इस मामले में कांग्रेस पार्टी के दलित सांसद व विधायक मौन क्यो हो गये है और कैप्टन की सरकार बिजली मुद्वे पर दलितो , पिछडो को प्रताडित व अपमानित कर रही है। जिन वर्गो के समर्थन से चुनाव जीत कर सता का सुख भोग रहे सांसद व विधायक अब कौन सी मजबुरी में कैप्टन सरकार के दुखद फैसले पर चुप्पी साधे हुये है। श्री चुग ने कहा की वितिय प्रबन्धन में असफल हो चुकी कांग्रेस पार्टी की सरकार अब गरीबो को मिलने वाली बिजली की सब्सिडी बन्द करने जैसे गरीबमारू फैसले कर रही है। उन्होने कहा की गत अकाली भाजपा सरकार के गरीब हितैषी कार्यक्रमों को लगातार बन्द किया जा रहा है। आटा दाल ,शगुन ,विधवा ,बुढापा ,पैन्शन , मिड डे मिल ,दलितो , पिछडो व कमजोर वर्ग के लोगो को 200 युनिट मुफत बिजली देने जैसी योजनायो को बन्द किया जा रहा है।
श्री चुग ने कहा भाजपा अकाली सरकार ने दलित व पिछडे परिवारों के बच्चे भी घर में बिजली लगने से पढ़ सके पर कांग्रेस की कैप्टन सरकार ने अत्याचारी फैसला कर उन गरीबो की बिजली की माफी रद्व कर दलित , पिछडे के खिलाफ की मानसिकता का प्रदर्शन किया है।
श्री चुग ने कहा की अपने 9 महीने के कार्यकाल में कैप्टन सरकार न तो किसानो का सारा कर्जा माफ कर सकी और न ही अपने एक भी चुनावी वादे पर खडी उतर सकी है। पंजाब का किसान आज भी आत्महत्या कर रहा है , गरीब वर्ग त्राहि त्राहि कर रहा है लेकिन कैप्टन अमरिन्दर सिंह राजशाही ढंग से अपने विधायको को दरबारी समझ कर सता के सुख में मदहोश हो कर जन विरोधी फैसले ले रहे है।

Date: 
Sunday, November 26, 2017